December 22, 2016

// //

विराट कोहली की रोचक कहानी (biography of virat kohli)


Biography of Virat Kohli ( विराट कोहली की जीवनी)
kohli

विराट कोहली का पूरा नाम विराट प्रेम कोहली है।  माता का नाम सरोज कोहली और पिता का नाम प्रेम कोहली है। उनका जन्म दिल्ली के उत्तम नगर में हुआ था और वह एक पंजाबी परिवार से हैं। उनके पिता criminal lawyer और माता house wife हैं। उनका एक बड़ा भाई विकाश और एक बड़ी बहन भावना भी है। उनके परिवार का कहना है की जब विराट 3 साल के तभी से उन्होंने cricket खेलना शुरू कर दिया था।

विराट कोहली की शिक्षा

विराट कोहली ने उत्तम नगर के विशाल भारती पब्लिक स्कूल से शिक्षा ग्रहण की थी। विराट कोहली 9 साल की आयु मे पश्चमी दिल्ली cricket academy में शामिल हुए। विराट कोहली के पिता को उनके पड़ोसी ने सलाह दी थी  की विराट को cricket academy join करवाएं उसके बाद उन्होंने कुछ समय तक व्यवसायिक रूप से क्रिकेट खेलना सीखा। क्रिकेट के अलावा कोहली पढ़ाई मे भी अच्छे थे। उनके शिक्षक उन्हें एक होनहार और बुद्धिमान बच्चा मानते थे। क्रिकेट academy में उन्होंने रजीवकुमार शुक्ला से प्रिशक्षण लिया था।
वर्ष 2006 में brain stroke की वजह से उनके पिता की मृत्यु हो गयी थी। जिससे पारिवारिक व्यापार भी डगमगा गया था, ये समय उनके और उनके परिवार के लिए काफी मुश्किल रहा था। कोहली बताते हैं की उनके पिता ही थे जो क्रिकेट प्रशिक्षण मे उनकी सहायता करते थे। विराट कोहली आज भी अपने पिता को याद किया करते हैं।

अंतराष्ट्रीय क्रिकेट  में पहला कदम
आज विराट कोहली एक अंतर्राष्ट्रीय भारतीय cricketer हैं। वे दायें हाथ से बल्लेबाजी करते हैं और कभी - कभी तेज बॉलिंग भी कर लेते हैं। विराट कोहली भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान और और वन डे cricket टीम के उप कप्तान है। वे इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) रॉयल चैलेंजर बेंगलोर टीम में भी कप्तानी करते हैं। विराट भारत के अंडर - 19 टीम के भी कप्तान थे जब 2008 में मलेशिया के अंडर - 19 विश्वकप में इस टीम ने इतिहास रच दिया था। उसके कुछ समय पश्चात ही उन्होंने अपना पहला अंतरार्ष्ट्रीय मैच श्री लंका के विरुद्ध खेला था। विराट कोहली को शुरू में भारतीय टीम के आरक्षित खिलाड़ी के रूप में रखा जाता था उसके बाद उन्होंने वन डे क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन से अपने आपको साबित किया। भारतीय टीम ने जब 2011 में विश्वकप जीत था तो उसमे विराट ने भी अपने खेल प्रदर्शन से उसमे काफी योगदान दिया था। विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 2011 मे अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। उन्हें वर्ष 2013 मे अपने शतकों के कारण वन डे स्पेस्लिस्ट कहा जाने लगा था और वह ICC वन डे रैंकिंग में पहले पायदान पर पहुंच गए थे।
वर्ष 2012 में विराट कोहली भारतीय वन डे टीम के उप कप्तान बने थे और कई बार उन्होंने कप्तान महेंद्र सिंघ धोनी की अनुपस्थिति में भारतीय टीम की बागडोर सम्भाली। जब महेंद्र सिंघ धोनी ने 2014 में टेस्ट क्रिकेट टीम से सन्यास ले लिया तो कोहली को ये जिम्मेदारी सौंपी गयी। विराट कोहली के नाम कई रिकॉर्ड है जैसे -
वन डे क्रिकेट में सबसे तेज शतक बनाना।
वन डे क्रिकेट में सबसे तेज 10 शतक बनाना।
वन डे क्रिकेट में सबसे तेज 5000 रन बनाना।
2015 में 20-20 क्रिकेट में दुनिया के पहले ऐसे बल्लेबाज जिसने सबसे तेज 1000 रन बनाये।

विराट कोहली को बहुत सारे पुरस्कार भी मिले जैसे की BCCI द्वारा 2011-12 का सर्वश्रेष्ट अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर, 2012 में ICC ODI प्लेयर ऑफ़ द इयर, वर्ष 2013 में भारतीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपने बेहतरीन खेल प्रदर्शन के लिए अर्जुन पुरस्कार दिया गया था।

अगर आपको हमारी कहानी अच्छी लगी तो हमे कमेंट जरूर करें इससे हमें बहुत खुशी होगी। हम आने वाले समय में और भी रोचक कहानियों के साथ आपका मनोरंजन करते रहेंगे।

हमारे ब्लॉग के latest updates के लीये हमें google पर follow करें। आप सभी readers का धन्यवाद।
Most populer Articles:

1. Biography of Nawazuddin Siddiqui Hindi ( नवाजुद्दीन सिद्दीक़ी के सफलता की कहानी )

2.Biography of A.P.J. Abdul Kalam (ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की जीवनी)

3.महात्मा गांधी का जीवन Biography of Mahatma Gandhi

4. How to Create online blog and make money (अपना ब्लॉग बनाएं और पैसे कमायें)

5. इतिहास की सबसे सुंदर स्त्री जिसे वैश्या बना दिया गया था। (story of amrapali)


आज विराट कोहली एक अंतर्राष्ट्रीय भारतीय cricketer हैं। वे दायें हाथ से बल्लेबाजी करते हैं और कभी - कभी तेज बॉलिंग भी कर लेते हैं। विराट कोहली भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान और और वन डे cricket टीम के उप कप्तान है। वे इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) रॉयल चैलेंजर बेंगलोर टीम में भी कप्तानी करते हैं। विराट भारत के अंडर - 19 टीम के भी कप्तान थे जब 2008 में मलेशिया के अंडर - 19 विश्वकप में इस टीम ने इतिहास रच दिया था। उसके कुछ समय पश्चात ही उन्होंने अपना पहला अंतरार्ष्ट्रीय मैच श्री लंका के विरुद्ध खेला था। विराट कोहली को शुरू में भारतीय टीम के आरक्षित खिलाड़ी के रूप में रखा जाता था उसके बाद उन्होंने वन डे क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन से अपने आपको साबित किया। भारतीय टीम ने जब 2011 में विश्वकप जीत था तो उसमे विराट ने भी अपने खेल प्रदर्शन से उसमे काफी योगदान दिया था। विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 2011 मे अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। उन्हें वर्ष 2013 मे अपने शतकों के कारण वन डे स्पेस्लिस्ट कहा जाने लगा था और वह ICC वन डे रैंकिंग में पहले पायदान पर पहुंच गए थे।
वर्ष 2012 में विराट कोहली भारतीय वन डे टीम के उप कप्तान बने थे और कई बार उन्होंने कप्तान महेंद्र सिंघ धोनी की अनुपस्थिति में भारतीय टीम की बागडोर सम्भाली। जब महेंद्र सिंघ धोनी ने 2014 में टेस्ट क्रिकेट टीम से सन्यास ले लिया तो कोहली को ये जिम्मेदारी सौंपी गयी।

विराट कोहली के नाम कई रिकॉर्ड है जैसे -

वन डे क्रिकेट में सबसे तेज शतक बनाना।
वन डे क्रिकेट में सबसे तेज 10 शतक बनाना।
वन डे क्रिकेट में सबसे तेज 5000 रन बनाना।
2015 में 20-20 क्रिकेट में दुनिया के पहले ऐसे बल्लेबाज जिसने सबसे तेज 1000 रन बनाये।
विराट कोहली को बहुत सारे पुरस्कार मिले जैसे की BCCI द्वारा 2011-12 का सर्वश्रेष्ट अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर, 2012 में ICC ODI प्लेयर ऑफ़ द इयर, वर्ष 2013 में भारतीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपने बेहतरीन खेल प्रदर्शन के लिए अर्जुन पुरस्कार दिया गया था।
अगर आपको हमारी कहानी अच्छी लगी तो हमे कमेंट जरूर करें इससे हमें बहुत खुशी होगी। हम आने वाले समय में और भी रोचक कहानियों के साथ आपका मनोरंजन करते रहेंगे।
हमारे ब्लॉग के latest updates के लीये हमें google पर follow करें। आप सभी readers का धन्यवाद।